Authors List

A small group of individuals motivated by the same ideological ethics endeavoring to present that side of discourse which is deliberately denied to give space by mainstream media.

लेखक शिक्षक, वरिष्ठ इतिहासविद एवं सामाजिक कार्यकर्त्ता

The author is a co-founder of TheAnalyst.co.in and young indologist.

Committed to Engineering. Having affairs with Philosophy. Heart goes to History.

Jyoti Tiwari is a renowned Social Activist, POSH trainer and counselor for people in a relationship crisis, author of bestseller book Annurag and the 'I bared my chest'.

स्वामी श्री राघवेन्द्रदास जी स्वर्गाश्रम ऋषिकेश निवासी हैं व संस्कृत के विद्वान, व्याकरण शिक्षक एवं वैदिक दर्शनों के ज्ञाता हैं

लेखक भारतीय एवं अब्राहमिक इतिहास, साहित्य व संस्कृति के गहन जानकार एवं राष्ट्रवादी विचारक हैं

ऑस्ट्रेलिया निवासी लेखक, हिन्दू धर्म, संस्कृति और इतिहास के गहन जानकार और शोधकर्ता हैं।

लेखक वरिष्ठ वैज्ञानिक व भारतीय संस्कृति, कला एवं धर्म के गहन जानकार हैं

लेखक गणितज्ञ व राजनीतिक विश्लेषक हैं

Filmmaker, Writer, Entrepreneur. Author of famous novel ‘ Chess without a Queen ’

Nityānanda Miśra is a renowned author based in Mumbai. Born in Lucknow, Misra is an MBA from IIM Bangalore. He writes on Indian literature, arts, and music. He has edited and authored eleven books in Sanskrit, Hindi, and English. His famous books are Kumbha, The Om Mala(English & Hindi), and Mahaviri.

Author is a Business Analyst and Entrepreneur.

लेखक वरिष्ठ पत्रकार, ज्योतिर्विद, राष्ट्रवादी विचारक एवं सामाजिक कार्यकर्ता हैं

लेखक राजनीतिक विश्लेषक हैं

लेखक भारतीय इतिहास, संस्कृति, धर्म एवं अध्यात्म के गहन जानकार हैं

लेखक वरिष्ठ पत्रकार, राजनीतिक विश्लेषक एवं उद्योगपति हैं

लेखक मान्य ज्योतिर्विद, व्याख्याता, एवं साहित्य, संस्कृति तथा इतिहास के गहन जानकार हैं

Sanjeev Newar is a prolific writer, speaker, and entrepreneur. A data scientist by profession, his thorough analytical skills are evident in his writings as well as products. His risk management products have been named in top 20 of the world for 2014,2015 and 2016. He is the only Indian to have ever made to this list. He has been behind several inclusive and encompassing innovations. He is a mentor to several eminent young scientists of the country. Sanjeev Newar is an alumnus of IIT Guwahati and IIM Calcutta. Sanjeev has written several books on spiritualism and Hinduism. The Agniveer movement founded by him has changed innumerable lives and brought path-breaking transformation towards social-equality, women-rights, and responsible humanism. His clarity in interpreting and presenting Hinduism is unique. He is an expert of Yoga, Tantra, and Vedas.

दिनांक 26 नवम्बर, 1984 को ग्राम जरीडीह बाज़ार, ज़िला बोकारो, झारखण्ड में जन्मे गुंजन अग्रवाल प्राच्यविद्या, भारतीय इतिहास, संस्कृति, धर्म-दर्शन, भारतीय-वाङ्मय, हिंदी-साहित्य, आदि के क्षेत्र में एक जाने-माने हस्ताक्षर हैं। एतद्विषयक शोधपरक निबन्धों, ग्रन्थों में गहरी अभिरुचि रखनेवाले गुंजन अग्रवाल विगत लगभग दो दशक से स्वाध्याय एवं लेखन, सम्पादन और प्रकाशन के कार्य से सम्बद्ध हैं। इस क्षेत्र के देश के मूर्धन्य विद्वानों पर अपनी विद्वत्ता की अमिट छाप छोड़ी है। गुंजन अग्रवाल भारतीय इतिहास की भ्रांतियों पर विगत कई वर्षों से कार्य कर रहे हैं। विशेषकर पौराणिक कालगणना के आधार पर भारतीय इतिहास के तिथ्यांकन (क्रोनोलॉजी-निर्माण) में इन्होंने अद्भुत सफलता प्राप्त की है। वेदों का रचनाकाल, श्रीराम का काल-निर्धारण, श्रीराम की ऐतिहासिकता, रामकथा का विश्वव्यापी प्रसार, महाभारत-युद्ध की तिथि, श्रीकृष्ण का समय, भगवान् बुद्ध का समय, आद्य शंकराचार्य का काल-निर्धारण, भारतीय इतिहास का परम्परागत कालक्रम, भारतीय इतिहास-लेखन, इस्लाम-पूर्व अरब में हिन्दू-संस्कृति, यूरोपीयों द्वारा भारतीय कला और बौद्धिक सम्पदा की लूट, आदि अनेक विषयों में इनके लिखे शोध-पत्रों ने उल्लेखनीय ख्याति अर्जित की है। सन् 1998 से प्रकाशन कार्य से एवं 2004 में मात्र 20 वर्ष की अवस्था में लेखन-कार्य से जुड़े गुंजन अग्रवाल का साहित्यिक जीवन पटना से प्रकाशित ‘सनातन भारत’ से प्रारम्भ हुआ। ये ‘सनातन भारत’ (हिंदी-मासिक) में सम्पादक-मण्डल सदस्य; ‘आरोग्य संहिता’ (हिंदी-द्वैमासिक) में उप सम्पादक; ‘पिनाक’ (हिंदी-त्रैमासिक) में प्रबन्ध-सम्पादक; ‘पगडंडी’ (हिंदी-त्रैमासिक) में सम्पादक; ‘इतिहास दर्पण’ (अर्धवार्षिक शोध-पत्रिका) में सह-सम्पादक और पटना की सुप्रतिष्ठित ‘पटना-परिक्रमा’ (हिंदी-वार्षिक पटना बिजनेस डायरेक्टरी) में प्रधान सम्पादक रह चुके हैं। प्राच्यविद्या की सुप्रतिष्ठित हिंदी-मासिकी ‘दी कोर’ के 30 अंकों का सम्पादन किया है। सम्प्रति दिल्ली से प्रकाशित शोध-पत्रिका ‘सभ्यता-संवाद’ में कार्यकारी सम्पादक के पद पर कार्यरत हैं। गुंजन अग्रवाल अपने पिता श्री कृष्णमोहन प्रसाद अग्रवाल के द्वारा बाल्यकाल से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक बनाए गये। प्रारम्भ से ही इन्हें साहित्यिक वातावरण प्राप्त हुआ है। इन्होंने 2004-’05 तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्, पटना महानगर के कोषाध्यक्ष; 2006-’09 तक स्वदेशी जागरण मंच, पटना महानगर के सह-विचार मण्डल प्रमुख; 2011-’12 में भारतीय इतिहास संकलन समिति, दक्षिण बिहार के सह-सचिव तथा 2012 से 2016 तक अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना, नयी दिल्ली में शोध-सहायक के रूप में कार्य किया। आप ‘बिहार-हिंदी-साहित्य-सम्मेलन’, पटना के संरक्षक-सदस्य और ‘अखिल भारतीय नवोदित साहित्यकार परिषद्’, काशी के सदस्य हैं। गुंजन अग्रवाल की अनेक पुस्तकें, शताधिक शोध-निबन्ध एवम् आलेख देश की महत्त्वपूर्ण पत्रिकाओं में प्रकाशित व विद्वानों द्वारा प्रशंसित हुए हैं। इनकी प्रमुख कृतियाँ हैं : ‘हिंदू इतिहास की स्मरणीय तिथियाँ’ (2006), ‘भगवान् बुद्ध और उनकी इतिहास-सम्मत तिथि’ (2009), ‘महाराजा हेमचन्द्र विक्रमादित्य : एक विस्मृत अग्रदूत’ (2014); उपर्युक्त पुस्तकें देश के ख्यातिलब्ध समीक्षकों द्वारा समीक्षित एवं प्रशंसित हुई हैं। 2008 में इनके द्वारा संपादित महामनीषी ‘डॉ. हरवंशलाल ओबराय रचनावली’ का भी प्रकाशन हुआ है। इनकी अनेक पुस्तकें प्रकाशनाधीन हैं। इनके अतिरिक्त इन्होंने साहित्य भारती प्रकाशन (पटना), वैदिक पब्लिशर्स (नयी दिल्ली) एवम् अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना (नयी दिल्ली) से प्रकाशित शताधिक पुस्तकों का अनाम सम्पादन किया है। गुंजन अग्रवाल ने अनेक प्रादेशिक, राष्ट्रीय एवम् अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठियों, कार्यशालाओं, व्याख्यानमालाओं, सम्मेलनों, शिविरों, आदि में सहभागिता की है एवम् अनेक में शोध-पत्र वाचन किया है। अनेक शैक्षणिक आयोजनों में मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता के रूप में आमन्त्रित हुए हैं। वर्ष 2018 में इनको ‘प्रभाश्री ग्रामोदय सेवाश्रम’ द्वारा भारतीय इतिहास एवं संस्कृति की संरक्षा में सतत संलग्नता के लिए ‘प्रभाश्री-सम्मान’ से अलंकृत किया गया है।

Dr. Vineet Aggarwal is an author, medical doctor & manager in equal measure. His scholastic pursuits haven't stopped him from dabbling in the Arts and his writing, as well as photography, have gained him recognition from a diverse international clientele. His literary repertoire covers politics to poetry but his favorite genre remains the amalgamation of science with mythology. His famous books are 'Bharat', 'Vishwamitra' and 'The Legend of Parshu-Raam'.

लेखक राजनीतिक विश्लेषक, व जैविक खेती विशेषज्ञ हैं

Gizmobox is a venture of Databox Group and Gizmobox Magazine is exclusively launched on every widely spread digital platform. It’s the cluster of Technology, Lifestyle, Business, Fashion, and Entertainment.

लेखक इतिहासविद एवं भारतीय संस्कृति के गहन जानकार हैं

"A small group of individuals motivated by the same ideological ethics endeavouring to present that side of discourse which is deliberately denied to give space by mainstream media."

Copyright © 2018 The Analyst. Designed & Developed by Databox

To Top