close

History

Indology

अल्लाउद्दीन खिलजी के राजस्व सुधार एवं हिन्दू

reforms of allauddeen kgilji
अल्लाउद्दीन खिलजी पहला मुसलमान शासक था जिसे इस्लाम के ध्वज को विन्ध्य पर्वत  के दक्षिण में फहराने का गौरव प्राप्त है. उससे पहले किसी भी
read more
HindiHinduismHistoryIndology

जिन्होंने संघ को देशव्यापी बनाया : पूर्व सरसंघचालक बालासाहब देवरस

balasahab-devras
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तृतीय सरसंघचालक श्री मधुकर दत्तात्रेय देवरस उपाख्य बालासाहब देवरस ‘सामाजिक समरसता और सेवाकार्यों द्वारा सामाजिक उत्थान’ के पुरोधा के रूप में
read more
HindiHinduismHistoryIndology

स्वामी श्रद्धानंद का बलिदान याद है?

swami-shraddhanand
वैदिक धर्म, वैदिक संस्कृति, और आर्य जाति की रक्षा के लिए, मरणासन्न अवस्था से उसे पुनः प्राणवान एवं गतिवान बनाने के लिए और उसे सर्वोच्च
read more
HindiHinduismHistoryIndology

अद्भुत है गंगा जी में अस्थि विसर्जन की दिव्य परंपरा!

asthi-visarjan
बात 1999 की है मुझसे बड़े भईया को खुनी पाईल्स हुए। और हर स्तर का इलाज कराते हुए इस पाइल्स ने Hemorrhoids(गुदचीर) का रूप ले
read more
HindiHistoryIndology

सनातन धर्म के चार वर्णों में श्रेष्ठ कौन?

varna-vyavastha
शूद्र वर्तमान समय मे शूद्र फटे फूटे कपड़े पहनने वाले, गरीब, गंदे या व्यसनी लोग समझे जाते होंगे, तभी शूद्र कहलाने में कई जातियों को
read more
HindiHinduismHistoryIndology

आद्य शंकराचार्य का अद्भुत मंगलाचरण…

shankaracharya
संस्कृत साहित्य में ग्रन्थ के प्रारम्भ में मंगलाचरण की सुदीर्घ परम्परा है। सभी उपनिषदों का अपना मंगलाचरण है। मंगलाचरण के बिना कोई कार्य प्रारंभ करें
read more
HindiHinduismHistoryIndology

6 दिसम्बर 1992, हिन्दुत्व की महानता का स्मारक

6dec
6 दिसम्बर 1992 बाबरी विध्वंस कई सदियों में हिंदुओं व हिन्दुत्व की सबसे बड़ी गौरवशाली स्मृति है। पर इस गौरवशाली घटना में हिन्दूओं की सहिष्णुता,
read more
Gender IssuesHindiHinduismHistoryIndologyMen's Corner

दुष्ट राक्षसियों के प्रति कैसा था हनुमान जी का व्यवहार? हनुमान जी का फेमिनिज़्म!!

hanumanji
कुछ लोगों द्वारा यह कहा जाता है कि स्त्री कितनी भी दुष्ट हो उसका सम्मान करना ही चाहिए फिर चाहे वह वैश्या ही हो। इसके
read more
HindiHinduismHistoryIndology

हिन्दू धर्म में वैश्य समाज का महत्व और योगदान

vaishya-samaj
पद्मावती फ़िल्म का सर्व हिन्दू समाज ने विरोध किया जो कि बहुत ही प्रसन्नता का विषय है। फ़िल्म के प्रखर विरोध के लिए श्री राजपूत
read more