Monday, January 20, 2020
Home Authors Posts by Vinay Jha

Vinay Jha

Vinay Jha
8 POSTS 0 COMMENTS
आचार्य श्री विनय झा जी एक योगी, वेद-वेदांग एवं शास्त्रों के ज्ञाता, सूर्यसिद्धान्तीय वैदिक ज्योतिष के विद्वान, सॉफ्टवेयर डेवलपर, भाषाविद, मौसम वैज्ञानिक, प्रतिष्ठित पंचांगकार एवं इतिहास, संस्कृति, धर्म, अध्यात्म से लेकर अर्थशास्त्र, जीवविज्ञान, राजनीति, रक्षा, विदेश आदि तमाम मामलों के गहन जानकार एवं प्रबुद्ध विचारक हैं
अभिजीत बनर्जी

क्या अभिजीत बनर्जी पर देश को गर्व है?

पाश्चात्य संस्कृति के प्रसार−प्रचार में नोबेल पुरस्कार जैसे हथकण्डों का खुलकर प्रयोग होता रहा है। रूस के ज़ार को बुरा न लगे इस कारण तॉल्स्तॉय को नोबेल पुरस्कार नहीं दिया गया,हालाँकि पश्चिम में भी...
ayodhya अयोध्या राम मंदिर

कोर्ट में भी जीती कभी न हारने वाली “अयोध्या”

“अयोध्या” का अर्थ है जिसे युद्ध द्वारा जीता न जा सके। बाबर ने आक्रमण करके मन्दिर तोड़ा,मस्जिद बनाया,तीन दूसरे प्राचीन मन्दिर वहाँ औरंगजेब ने तोड़े,किन्तु 1858 तक वहाँ हथियारबन्द साधुओं का कब्जा रहा जिन्होंने...
व्यायाम योग प्राणायाम पतंजलि

व्यायाम नहीं योग और प्राणायाम हैं उत्कर्ष का रास्ता

“क्या प्राणायाम और आसन के अलावा strength exercises जैसे push ups, squats इत्यादि करना चाहिये आज कल के युवाओं को शारीरिक शक्ति को maintain करने के लिए ?” उत्तर — strength exercises जैसे push ups और...
मदरसा

मदरसा : जिहाद का ऐतिहासिक उद्योग

भारत या किसी भी देश में जबतक मदरसे रहेंगे तबतक जिहादी मानसिकता और आतंकवाद रहेंगे। मदरसा शब्द की व्युत्पत्ति सेमेटिक भाषाओं में “द् र् स्” धातु से मद्रसः शब्द की व्युत्पत्ति अरबी में हुई जिसे उर्दू...
श्रीरामजन्मभूमि मन्दिर राम मंदिर आंदोलन अयोध्या

दो सूफियों ने लिया था बाबर से श्रीरामजन्मभूमि मन्दिर तोड़ने का वचन

भारत पर आक्रमण करने से पहले बाबर एक सूफी कलन्दर के छद्म वेष में भारत आया था । कलन्दर बनकर उसने दिल्ली के सुल्तान सिकन्दर लोदी से भी भेंट की । अयोध्या भी गया,जहाँ...
हड़प्पा मोहनजोदड़ो सिंधु घाटी पशुपति महिषासुर

मोहनजोदड़ो और हड़प्पा की आसुरी सभ्यता की वास्तविकता

यूरोप के तथाकथित 'विद्वानों' ने मोहनजोदड़ो और हड़प्पा 'सभ्यता' को भारतीय सभ्यता की प्राचीनतम आधारशिला बताया और उसे वैदिक पशुपालक लोगों की तुलना में विकसित तथा पुरातन घोषित कर दिया, जिसे आजतक हमारे नीति-निर्धारक...
shaligram moorti मूर्तिपूजा शालिग्राम

मूर्तिपूजा – सनातन धर्म का एक महत्वपूर्ण अंग

यह शत-प्रतिशत झूठा प्रचार है कि सनातन धर्म में मूर्तिपूजा नहीं थी। भारत की प्राचीनतम मूर्तियाँ जैनियों या बौद्धों की नहीं हैं। सबसे पहले यह प्रचार अंग्रेजों ने आरम्भ किया कि भारत में ग्रीक...
वेद मंत्र मन्त्र ब्राह्मण ऋग्वेद यजुर्वेद सामवेद अथर्ववेद

‘मन्त्र’ का अर्थ, प्रयोग और उसके फल

मन्त्र :- मन के साधन को "मन्त्र" कहते हैं | अर्थात मन जो "संकल्प" ले उसे सत्य बनाने के साधन को मन्त्र कहते हैं | किसी भी वैदिक संहिता में "मन्त्र" नहीं होते | ऋग्वेद...

Stay connected

16,346FansLike
510FollowersFollow
11,304FollowersFollow

Latest article

अमित शाह नरेंद्र मोदी हिन्दूराष्ट्र

परमभट्टारक नरेन्द्र मोदी और महादण्डनायक अमित शाह के वीरोचित निर्णय

हिन्दूराष्ट्र के निर्मम शून्य आकाश में एकाएक अनेक वर्ण के मेघ परिधावी संवत्सर में उभरे हैं। एक विकट महापरिवर्तन आरम्भ हो चुका है। सर्वराज सम्राट...
अभिजीत बनर्जी

क्या अभिजीत बनर्जी पर देश को गर्व है?

पाश्चात्य संस्कृति के प्रसार−प्रचार में नोबेल पुरस्कार जैसे हथकण्डों का खुलकर प्रयोग होता रहा है। रूस के ज़ार को बुरा न लगे इस कारण...
ayodhya अयोध्या राम मंदिर

कोर्ट में भी जीती कभी न हारने वाली “अयोध्या”

“अयोध्या” का अर्थ है जिसे युद्ध द्वारा जीता न जा सके। बाबर ने आक्रमण करके मन्दिर तोड़ा,मस्जिद बनाया,तीन दूसरे प्राचीन मन्दिर वहाँ औरंगजेब ने...